हमने उड़ान के दौरान और यहां तक कि मैकडोनल्ड रेस्तरां (McDonald’s restaurant) में बच्चों के जन्म लेने की कहानियां सुनी है, जहां लोगों ने गर्भवती महिला की मदद की। इस भारतीय महिला की कहानी भी ऐसी ही है, जिसे अचानक रेलवे प्लेटफॉर्म पर प्रसव पीड़ा होने लगी।

समाचार एजेंसी ANI ने कुछ दिनों पूर्व बताया कि, एक भारतीय महिला, मिनाक्षी जादव (Meenakshi Jadhav) अपने पति के साथ ठाणे रेलवे स्टेशन पर ट्रेन में चढ़ने वाली थी, जब उन्हें तेज़ प्रसव पीड़ा हुई। दंपति अस्पताल जाने के लिए एक लोकल ट्रेन पकड़ना चाहते थे।

Credit Wikipedia | Superfast1111

तभी महिला को तेज़ प्रसव पीड़ा होने लगी। उनके पति मदद के लिए चिल्लाए और रेलवे सुरक्षा बल (RPF) की सिपाही शोभा मोटे (Shobha Mothe),  अन्य महिलाओं के साथ उनकी मदद के लिए आईं।  एक अस्थाई कवर की मदद से उन्होंने बच्चे की प्रसव कराने में मदद की।

मिड-डे रिपोर्ट की रिपोर्ट के अनुसार, “मोटे ठाणे स्टेशन पर स्कैनिंग मशीन चला रही थी। मोटे ने सुना कि एक महिला प्लेटफॉर्म पर दर्द से कराह रही थी।” बाद में पता चला कि इस मां का प्रसव 25 दिनों बाद होने वाला था।

Credit: Twitter | Ministry of Railways‏

कुछ ही मिनटों में महिला ने एक नवजात बच्चे को सुरक्षित जन्म लिया और उसके बाद मां और नवजात को अस्पताल में इलाज कराया गया।मीडिया से बात करते हुए RPF इंस्पेक्टर “दिनेश नायर” ने बताया कि, “मदद करने वाली महिला यात्रियों में से एक नर्स थी। जिन्होंने मोटे के साथ मिलकर जह्नावी की डिलिवरी करवाने में मदद की।”

महिला के पति ने बताया कि, “जच्चा-बच्चा बिल्कुल स्वस्थ्य हैं। और यह उनका दूसरा बच्चा है।” सेंट्रल रेलवे ने भी स्टेशन पर बच्चे के जन्म की बात अपने आधिकारिक ट्वीटर अकाउंट से दी। जिसमें ट्वीट करते हुए लिखा गया है कि, “ठाणे रेलवे स्टेशन के प्लेटफॉर्म नंबर-10 पर एक महिला ने RPF की महिला सिपाही शोभा मोटे और एक नर्स की मदद से सकुशल बच्चे को जन्म दिया।”

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds