गुरुवार को राजधानी दिल्ली में ग्रीन कॉरिडोर बनाकर इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट से ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंसेज (AIIMS) तक प्रत्यारोपण के लिए “दिल” को पहुंचाया गया। दिल्ली पुलिस की मदद से बनाए गए इस ग्रीन कॉरिडोर की वजह से दिल ले जा रहे वाहन ने मीलों की दूरी मिनटों में पूरी कर ली।

पत्रकारों से बात करते हुए दिल्ली पुलिस के जॉइन्ट कमिश्नर, अलोक कुमार ने बताया कि ग्रीन कॉरिडोर की मदद से एम्बुलेंस ने 14 किलो मीटर की दूरी मात्र 12 मिनटों में पूरी कर ली।

एनडीटीवी ने पीटीआई के हवाले से बताया कि एम्स विभाग के ऑर्गन रेट्रवल और बैंकिंग ऑर्गनाइजेशन की संरक्षक डॉ. आरती विज ने कहा कि इस दिल को एम्स में भर्ती उत्तर प्रदेश के एक 32 वर्षीय शख्स को प्रत्यारोपित किया जाना है।

बता दें कि दिल को प्रत्यारोपित करने के लिए मानव अंगों को ले जा रहे एम्बुलेंस को शीघ्र अस्पताल पहुंचने में मदद करने के लिए किसी भी शहर में ग्रीन कॉरिडोर बनाया जाता है। जिसकी मदद से एम्बुलेंस को शहर के भीतर या फिर एक से दूसरे शहर में शीघ्र पहुंचने में मदद मिलती है। इसके अलावा कुछ परिस्थितियों में तत्काल चिकित्सा देख-रेख की ज़रुरत वाले लोगों के लिए भी ग्रीन कॉरिडोर बनाया जाता है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds