शहर या गांव में कचरा इकट्ठा करने और निपटाने की जिम्मेदारी नगरपालिकाओं या स्थानीय शहरी निकायों की होती है। शहरी ठोस कूड़े का समुचित प्रबंध स्थानीय निकायों के महत्वपूर्ण उत्तरदायित्वों में से एक है। लेकिन केरल के इडुक्की जिले के छोटे-से गांव नेदुमगंडम ने इस कचरे से निकलने वाले प्लास्टिक अपशिष्ट का निपटारा करने के लिए एक नया तरीका निकाला है। 

For representational purposes. On the left you have Kudumbasree workers collecting plastic waste. On the right you have a plastic waste processing unit. (Source: Kerala government/Facebook)
credit : betterindia

राज्य सरकार की एक पहल के अंतर्गत नेदुमगंडम की गांव पंचायत ने क्लीन केरल कंपनी को 4136.83 किलो प्लास्टिक अपशिष्ट 62472 रुपये  में पुनर्नवीनीकरण के लिए बेचा। पंचायत के पास अभी भी 10000 किलो प्लास्टिक अपशिष्ट और 3000 किलो कार्बनिक उर्वरक बेचने के लिए उपलब्ध है।

राज्य सरकार की कुदुम्बश्री योजना के माध्यम से कार्यरत महिला कर्मचारी, प्रत्येक स्कूल, अस्पताल और घरों में जाकर प्लास्टिक अपशिष्ट और गैर जैव अवक्रमणीय अपशिष्ट एकत्रित करती हैं। स्थानीय पंचायत इस प्लास्टिक अपशिष्ट का पुनर्नवीनीकरण के लिए क्लीन केरल कंपनी को बेच देती है।

Image may contain: 3 people, outdoor
credit : facebook

यह कंपनी इसका नवीनीकरण कर सार्वजानिक कार्य विभाग और निजी कंपनियों को उचित मूल्यों पर बेच देती है। अब ब्लॉक पंचायत इस प्रक्रिया को और अधिक मजबूत करने के लिए प्रयासरत हैं। राज्य सरकार ने गांव पंचायत को अपशिष्ट प्रसंस्करण सयंत्र (waste processing plant) से बायोगैस इकाई स्थापित करने की अनुमति दे दी है जिससे स्थानीय लोगों के लिए बिजली और खाना पकाने की गैस उत्पन्न की जा सके। इस कार्य को सुचारु रूप से चलाने के लिए राज्य सरकार 10 लाख की धनराशि भी देने वाली है। यह परियोजना ग्रामीण विकास मंत्रालय(केंद्रीय) की गोवेर्धन पहल और केरल  सरकार के सुचित्वा मिशन के तहत कार्य करेगी।

Image may contain: one or more people, tree, table and outdoor
credit : facebook

राज्यभर में कई स्थानीय निगमों, नगर पालिकाओं और पंचायतों में अपशिष्ट प्रसंस्करण सयंत्र हैं और नेदुमगंडम इन सबसे अलग नहीं है। यह बायोगैस सयंत्र करीब 300 किलो ठोस अपशिष्ट के साथ प्रक्रिया करेगा जिससे 15 घरों के लिए खाना पकाने की गैस का निर्माण होगा। इसके अलावा इस सयंत्र से आसपास के घरों को बिजली भी मिलेगी। 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds