देहरादून के युवा एथलीट सूरज पनवर ने यूथ ओलंपिक में रजत पदक जीतकर इतिहास रच दिया है। सूरज ने वॉक रेस प्रतियोगिता में रजत पदक जीतने में सफलता हासिल की है। रजत पदक जीतने के साथ ही सूरज युथ ओलंपिक में रजत जीतने वाले पहले भारतीय एथलीट बन गए हैं।

Image may contain: 3 people, closeup
Credit : Facebook

सोमवार को अर्जेंटीना में हुई 5000 मीटर वॉक रेस प्रतियोगिता के दूसरे चरण में सूरज 20 मिनट 35.87 सेकेंड का समय लेकर पहले स्थान पर रहे। जबकि पहले चरण में सूरज 20 मिनट 23.30 सेकेंड का समय लेकर दूसरे स्थान पर रहे थे। पहले चरण में पहले स्थान पर रहे इक्वाडोर के ऑस्कर ने 20 मिनट 13.69 सेकंड का समय निकाला था। दूसरे चरण की रेस में ऑस्कर 20 मिनट 38.17 सेकंड का समय लेकर दूसरे स्थान पर रहे। दोनों चरणों की रेस के औसत आधार पर सूरज रजत पदक जीतने में कामयाब रहे। 

देहरादून के प्रेमनगर में रहनेवाले सूरज के लिए यह सफर बहुत ही मुश्किल भरा रहा। सूरज के पिता वन विभाग में गैर अनुबंध कर्मचारी थे।लेकिन बदकिस्मती से जब सूरज मात्र छह महीने के थे तो वन माफिया ने उनके पिताजी की हत्या कर दी थी और उनकी माँ ने प्राथमिक शिक्षा भी पूर्ण नहीं की थी।

Image may contain: 3 people, people smiling, people standing
Credit : Facebook

यहाँ आने से पहले सूरज की माँ के पास इतने भी पैसे नहीं थे कि वे उन्हें नए जूते दिला सकें। फिर भी सूरज ने हिम्मत नहीं हारी और उनके मित्र मनीष रावत, जिन्होंने राष्ट्रमंडल खेलों में भाग लिया था, उनके जूते पहनकर इस ओलिम्पिक में दौड़े। आकार में उनके जूते बड़े थे फिर भी सूरज ने उसे तंग बनाने के लिए मोज़े की अतिरिक्त जोड़ी पहनी थी। 

शुरूआती दिनों में वे स्प्रिंट दौड़ में हिस्सा लेते थे। फिर स्कूल की तरफ से उन्हें लम्बी दौड़ के लिए चुना गया। और यहीं  से उनके सफर की शुरुआत हुई।जूनियर नेशनल एथलेटिक्स चैम्पियनशिप में 10,000 मीटर की पैदल दूरी पर उन्होंने कांस्य पदक जीता था। और इस साल की शुरुआत में उन्होंने जूनियर फेडरेशन कप में यू -20 श्रेणी में 1,000 मीटर रेस वॉक इवेंट में स्वर्ण पदक जीता।

Image may contain: 4 people, people smiling, people standing
Credit : Facebook

और अब सूरज पनवर ने यूथ ओलंपिक में रजत पदक जीतकर देश को गौरान्वित किया हैं। यह पदक सूरज की कड़ी मेहनत का फल हैं। फिलहाल सूरज अपनी इस सफलता का आनंद उठा रहे हैं। हम तो यही आशा करते हैं कि सूरज दो साल बाद होने वाले टोक्यो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करें। 

भविष्य के लिए उन्हें ढेर सारी शुभकामनाएं! 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds