भारत की प्रमुख सरंक्षक वैज्ञानिक कृति कारंथ को वन्यजीव सरंक्षण क्षेत्र में विशेषज्ञता प्राप्त है। इस प्रतिभाशाली वैज्ञानिक को हाल ही में विंग्स वर्ल्डक्वेस्ट द्वारा 2019 की वीमेन ऑफ़ डिस्कवरी अवार्ड के लिए चुना गया। यह एक ऐसा संगठन है जो महिला वैज्ञानिकों का समर्थन करता है। और उनके सम्बंधित क्षेत्र के असाधारण कार्य के लिए उन्हें सम्मानित करता है। 

Image may contain: 1 person, smiling
Credit : Facebook

मंगलुर की रहने वाली कृति का बचपन बड़े ही असामान्य तरीके से गुजरा। उनके पिता एक टाइगर बायोलॉजिस्ट और सरंक्षणवादी हैं और दादाजी एक अग्रणी पर्यावरणविद थे। इसलिए उन्होंने अपने बचपन का काफी समय जानवरों को देखने और पिता के साथ जंगलों की यात्रा पर बिताया। जानवरों  और जंगलों की प्रकृति में उनकी बहुत दिलचस्पी थी। लेकिन उन्होंने इस कार्य के दौरान होने वाली कठिनाई को भी देखा और उनका सामना किया इसलिए वह इस क्षेत्र में अपना करियर नहीं बनाना चाहती थीं। 

भले डॉ कृति अपने पिता की तरह सरंक्षणवादी नहीं बनना चाहती थीं। लेकिन उन्होंने अपने जीवन के लिए कुछ और सोच रखा था। उन्होंने पर्यावरण विज्ञान और भूगोल में अध्ययन किया। लेकिन धीरे-धीरे उनकी रूचि अनुसन्धान और वन्यजीव सरंक्षण की ओर प्रवृत्त हुई। जिसके बाद उन्होंने येल जैसे प्रसिद्द विश्वविद्यालय से उच्च शिक्षण प्राप्त किया। साथ ही फ्लोरिडा विश्वविद्यालय से बीएस और बीए और ड्यूक विश्वविद्यालय से पर्यावरण विज्ञान में पीएचडी की उपाधि प्राप्त की। 

Image may contain: 1 person
Credit : Facebook

पिछले 20 वर्षो में डॉ कृति ने अपने शोध पर ध्यान केंद्रित करते हुए प्रजाति विवरण, विलुप्त होने, वन्यजीव पर्यटन के प्रभाव, स्वैच्छिक पुनर्वास के परिणाम, भूमि उपयोग के परिवर्तन और मानव वन्यजीव पैटर्न का आकलन करते हुए छोटे स्तर पर अध्ययन किया। उनकी पहली परियोजना 2002 में कर्णाटक के भद्रा में शुरू हुई। जहां उन्होंने लोगों के स्वैच्छिक पुनर्वास और आजीविका सम्बन्धी समस्याओं का अध्ययन किया। 

वर्तमान में डॉ कृति वाइल्डसेव नामक एक परियोजना पर काम कर रही हैं और इस परियोजना के मार्फ़त 7000 से अधिक परिवारों को वन्यजीव क्षतिपूर्ति दावों को दर्ज़ करने और उनका सही लाभ प्राप्त करने में मदद भी कर रहीं हैं। इन वर्षों के दौरान उन्होंने भारत,ऑस्ट्रेलिया,ब्रिटेन और अमेरिका के 100 से अधिक वैज्ञानिकों से प्रेरणा ली है जो वन्यजीव के बेहतरी के लिए प्रयास करते हैं और मानव गतविधियों को प्रभावित करने का अध्ययन करने के लिए भी प्रेरित करते हैं। 

Image may contain: 1 person
Credit : Facebook

डॉ कृति को “वीमेन ऑफ़ डिस्कवरी अवार्ड” के लिए अन्य विशेषज्ञ महिलाएं डॉ लिसी लिचेनफेल्डफेन, मैंडे होल्फोर्ड और डारलेन लिम के साथ इस सम्मान के लिए चुना गया है। हम आशा करते हैं कि कृति कारंथ अपने कार्यों को आगे बढ़ाये ताकि वह पर्यावरण के प्रति उत्साही लोगों को इस कार्य के लिए प्रेरित कर सके। 

 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds