किसी ने सच ही कहा है कि सफल लोग कुछ अलग काम नहीं करते बल्कि उसी काम को ही अलग ढंग से करते हैं। आईआईएम बेंगलुरु से पढ़े पीसी मुस्तफा ने खाने-पीने के क्षेत्र में कुछ नया करने का मन बनाया था। उन्होंने 2006 में अपनी कंपनी शुरू की जिसका नाम आईडी फ्रेश रखा। यह कंपनी रेडीमेड इडली-डोसा बनाती है।

Credit : Twitter

मुस्तफा ने अपने चार चचेरे भाइयों के साथ इस कंपनी की शुरुआत की थी। आज उनकी कंपनी इडली-डोसा समेत 7 नए उत्पाद तैयार करती है। उनके प्रॉडक्ट की डिमांड भारत से लेकर दुबई तक है। वे भले ही नए प्रॉडक्ट बनाने लगे हैं, लेकिन सबसे ज्यादा बिक्री उनके इडली और डोसे की होती है।

हालांकि उनका सफर इतना आसान नहीं था और हर उद्यमी की तरह उन्हें भी कई तरह की मुश्किलें उठानी पड़ीं। कभी पैसों के अभाव के खातिर स्कूल छोड़ना पड़ गया था। उन्होंने बेंगलुरु के इंदिरानगर इलाके में 60 वर्ग फुट इलाके से अपनी शुरुआत की थी।

Credit : Twitter

मुस्तफा बताते हैं कि अच्छा इडली या डोसा तैयार करने के लिए खास तौर के चावल और उड़द की दाल की आवश्यकता होती है। उन्होंने इसकी खोज में 6 महीने लगा दिए तब जाकर उन्हें अच्छी गुणवत्ता वाले चावल और उड़द दाल मिल पायी। उनके इडली-डोसे का आईडिया हिट हो जाने के बाद उन्हें हेलियन वेंचर्स और प्रेमजी इन्वेस्ट जैसे इन्वेस्टरों से आर्थिक मदद मिलने लगी।

इस उपलब्धि पर बीते दिनों आईआईएम बेंगलुरु के 45वें स्थापना दिवस पर उन्हें पुरस्कृत किया गया। आज वे एक सफल उद्यमी हैं और उनकी कंपनी का टर्नओवर सौ करोड़ के पार पहुंच चुका है।

 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds