आकाश और पृथ्वी के बीच में कहीं ऊपर, एक अनुभवी पायलट ने अपने खुद के जीवन के उद्देश्य के बारे में सोचा—यह एक ही दिन में नहीं हुआ, 14,500 घंटों की उड़ान के दौरान हुआ था। इसमें कोई संदेह नहीं था कि ऊपर आसमान से दुनिया भव्य दिखाई देती थी परन्तु कभी कभी यह नज़ारा तबाही और दुःख में बदल जाता था। सौभाग्य से, इस पायलट को उसके मन में चल रहे सारे सवालों के जवाब मिल गए, जब एक दिन उसकी माँ ने उसे एक पत्र लिखा।

Credit: Capt. Nguyen Tuan Dung

कैप्टन गुयेन तुआन डंग (Capt. Nguyen Tuan Dung) हमेशा एक त्वरित सफलता पाने वाले और एक खोजकर्ता रहे हैं। यूनाइटेड किंगडम में ऑक्सफोर्ड एविएशन अकादमी (Oxford Aviation Academy) में प्रशिक्षित होने के बाद और शैक्षणिक उत्कृष्टता के लिए ऑस्ट्रेलियाई विमान अकादमी (Australian Aviation Academy) के रोल ऑफ़ हॉनर (roll of honor) में सूचीबद्ध किए गए, कैप्टन गुयेन ने उनके कई वियतनामी साथियों की तुलना में जीवन का बेहतर पक्ष देखा है लेकिन ऐसा कुछ है जिसने खोज के नए रास्ते खोल दिए और आकाश की अपनी यात्राओं के विपरीत, यह उनके मन की यात्रा थी।

एनटीडी (NTD) के साथ एक साक्षात्कार के दौरान कैप्टन गुएन ने कहा, “मैं कतर (Qatar) में था जब मुझे खबर मिली कि मेरी माँ को दौरा पड़ा है। यह बहुत दर्दनाक था। मैं एक लक्जरी एयरलाइंस में काम कर रहा था, मैं बहुत अच्छा कमा रहा था और मुझे लगा कि मेरे पास ज़िंदगी में सब कुछ है। लेकिन उस क्षण मुझे कमजोर महसूस हुआ और मुझे एहसास हुआ कि पैसा सब कुछ नहीं खरीद सकता।”

Capt. Nguyen’s mother. (Credit: )

माताएँ हमारी सबसे पहली पथ प्रदर्शक होती हैं और कप्तान गुयेन के लिए भी उनकी माँ सबसे अच्छी मार्गदर्शक साबित हुईं। उनकी माँ ने उन्हें एक किताब और एक आध्यात्मिक अभ्यास के बारे में बताया जिसने उन्हें बदल दिया था।

कैप्टन गुयेन ने कहा, “इस अद्भुत ध्यान अभ्यास की वजह से मेरी माँ ने अपने सभी हृदय रोगों से लगभग पूरी तरह से छुटकारा पा लिया है।”

उन्होंने कहा, “इससे पहले उनके पत्रों (mails) में मेरी राजी-ख़ुशी और मैं क्या खा रहा हूँ, के बारे में लिखा होता था। उन्होंने अपनी बीमारी को ठीक करने के लिए सबकुछ करके देख लिया पर उन्हें किसी से भी राहत नहीं मिली। फिर जब वे वैकल्पिक चिकित्सा प्रणालियों की खोज कर रही थीं, तब उन्हें फलुन गोंग (Falun Gong) के बारे में पता चला। उन्होंने मुझे एक पत्र लिखा और अगले 10 दिनों तक मैंने वेबसाइट पर मिली कई किताबें पढ़ीं।”

(Credit: Tianti Books)

उसके बाद से, फालुन गोंग (Falun Gong) (जिसे फलुन दाफा (Falun Dafa) भी कहा जाता है), एक आध्यात्मिक शिक्षण है जिसे विश्वभर में 100 मिलियन लोगों द्वारा अपनाया गया है, उनके जीवन का अखण्ड हिस्सा बन गया है। कैप्टन गुयेन ने ज़ुआन फालुन (Zhuan Falun), फालुन गोंग की मुख्य पुस्तक को उन सभी भाषाओं में पढ़ा है, जिन्हें वे जानते हैं, जैसे वियतनामी, अंग्रेजी और मेंडरि‍न।

उन्होंने कहा, “उस विशेष दिन ने मेरी जिंदगी को पूरी तरह से बदल दिया। मैं अपने हाथों में ज़ुआन फालुन पुस्तक लेकर हवाई अड्डे पर बैठा था। हर शब्द ने मेरी आत्मा को छुआ, मेरे मस्तिष्क को सत्य, करुणा, सहनशीलता की चमकदार रोशनी से रोशन कर दिया। ,” मैं चमत्कार और आश्चर्य से अभिभूत हो गया था, ऐसा भव्य प्रदर्शन इससे पहले कभी नहीं हुआ था। मेरी पूरी ज़िन्दगी के सारे दृश्य मेरे दिमाग में एक फिल्म की तरह चलने लगे। पहली बार मुझे ख़ुशी और ग़म दोनों का कारण समझ आया। “

उन्होंने कहा, “यह अभ्यास मूल रूप से मुझे ‘सत्य-करुणा-सहनशीलता’ के साथ अपना जीवन जीना सिखाता है और पांच व्यायाम मेरे शरीर को उत्साहित करते हैं। उड़ना थकाऊ हो सकता है लेकिन अभ्यास मुझे ताजा महसूस कराता है और हमेशा अगले के लिए तैयार रखता है।”

Credit: Capt. Nguyen Tuan Dung

जब उनसे पूछा गया कि वास्तव में उनके लिए “दिल” का मतलब क्या है, कैप्टन गुयेन ने कहा, “यह बहुत आसान है, जब झूठ आपको आकर्षित करे तो आप सत्य को चुनें। जब क्रोध आपको अंदर से जलाए तो आप करुणामयी बनिए। जब हिंसा और नकारात्मकता आपको प्रेरित करे तब आप ‘सहनशील’ बनिए।”

Credit: Capt. Nguyen Tuan Dung

कैप्टन गुयेन ने दुनिया भर की यात्राएँ की हैं और क्योंकि उन्हें खाना बहुत पसंद है, उन्होंने बताया कि भारत के साथ उनका एक सुंदर संबंध है। एनटीडी के साथ टेलीफ़ोनिक साक्षात्कार के दौरान, कैप्टन गुयेन ने बताया की कैसे कतर (Qatar) में अपने एक भारतीय मित्र से चिकन करी की रेसिपी सीखी और दक्षिण पश्चिम भारत के केरल (Kerala) राज्य में स्थित कोच्चि (Kochi) शहर में अपनी “टुक-टुक” (ऑटो रिक्शा) की सवारी के बारे में याद किया और मुस्कुराए।

“मुझे भारतीय सड़कों पर घूमना पसंद है। भारतीय लोग बहुत जोशीले होते हैं और भारतीय भोजन बहुत अच्छा होता है। मुझे भारतीय स्ट्रीट फ़ूड बहुत पसंद है।”

Credit: Capt. Nguyen Tuan Dung

भारत (India) की विविधता और समृद्ध परंपरागत विरासत कैप्टन गुयेन को लुभाती है। उन्होंने कहा कि भारत में सभी का अपना कुछ आध्यात्मिक विश्वास और दृष्टिकोण होता है और इतनी विविधता होने के बावजूद, सभी अभी भी एक साथ रहते हैं।

उन्होंने कहा, “मैं तब एक बच्चा था जब मेरी माँ ने पहली बार मुझे भारत के बारे में बताया। भारत के बारे में मैंने किताबों में पढ़ा था कि यह बुद्ध शाक्यमुनि (Buddha Sakyamuni) (गौतम सिद्धार्थ बुद्ध) (Gautama Siddhartha Buddha) की जन्मभूमि है। मैं इस देश से बहुत प्रभावित हूँ और इसी तरह मेरा परिवार भी है।”

Credit: Capt. Nguyen Tuan Dung

कैप्टन गुयेन ने फालुन गोंग के अभ्यास के द्वारा आध्यात्मिक रूप से जो हासिल किया, उससे उन्हें इतना सकारात्मक महसूस हुआ कि उन्होंने अभ्यास की सभी मूल पुस्तकों को पढ़ने के लिए मंडरिन चीनी (Mandarin Chinese) भाषा सीखी। लोग व्यापारिक संचार के लिए चीनी भाषा सीखते हैं, लेकिन कैप्टन गुयेन ने यह भाषा “अपने और अपने अस्तित्व के बारे में और अधिक जानने के लिए सीखी।”

यह कहना अनावश्यक है, अस्तित्व के बारे में उनके सवालों और आसमान की सवारियों का अभी भी अंत नहीं हुआ है। शायद उनकी यात्राओं, जीवन के अनुभवों, ज्ञान और बुद्धिमत्ता का कोई अंत नहीं है—जैसा कि हमेशा एक अगली उड़ान रहती है!

यहां उनकी उत्कृष्ट यात्रा देखें

AMAZING JOURNEY OF A VETERAN VIETNAMESE PILOT

Veteran pilot experiences true happiness through ancient spiritual practiceKnow more: http://falundafa.org

Posted by NTD Television India on Monday, December 18, 2017

 


फालुन दाफा (फालुन गोंग के रूप में भी जाना जाता है) सत्य, करुणा और सहनशीलता के सार्वभौम सिद्धांतों के आधार पर आत्म-सुधार के लिए ध्यान की एक प्रणाली है। यह चीन (China) में 1992 में श्री ली होंगज़ी (Mr. Li Hongzhi) द्वारा जनता में सार्वजनिक की गई थी। वर्तमान में 114 देशों में 100 मिलियन से अधिक लोगों द्वारा इसका अभ्यास किया जाता है लेकिन 1999 के बाद से इस शांतिपूर्ण ध्यान प्रणाली को चीन में दमन किया जा रहा है। अधिक जानकारी के लिए, कृपया देखें: falundafa.org और faluninfo.org

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds