कुछ लोग मेहनती होते हैं, कुछ लोग बहुत मेहनती होते हैं और कुछ लोग होते हैं मुश्किल हालातों से लड़ कर अपना लक्ष्य पाने वाले। ऐसे ही लोगों में से एक हैं आईपीएल खिलाड़ी मंजूर डार। भारत में क्रिकेट प्रेमियों को हर साल आईपीएल का बेसब्री से इंतजार रहता है। यह आईपीएल अपने साथ रोमांच के साथ ही ऐसे युवा क्रिकेटरों को हमसे मिलवाता है जिनके किस्से सुनकर देश के तमाम होनहार क्रिकेटरों को लगता है कि वे भी अपनी जिंदगी में कुछ अच्छा कर सकते हैं।

इस बार जम्मू-कश्मीर के एक ऐसे क्रिकेटर की चर्चाएं हो रही हैं जो अपनी आजीविका चलाने के लिए कभी गार्ड की नौकरी करते थे। उन क्रिकेटर का नाम है मंजूर डार। मंजूर को किंग्स इलेवन पंजाब ने 20 लाख रुपये में खरीदा है। मंजूर का आईपीएल में चुना जाना पूरे कश्मीर और भारत के लिए गर्व की बात है।

Image result for manzoor dar
Credit: Times of India

मंजूर कश्मीर के बांदीपुरा जिले के एक किसान परिवार में पैदा हुए थे। उन्हें बचपन से ही क्रिकेट खेलने का शौक था लेकिन घर की स्थिति कुछ ऐसी थी कि परिवार का गुजारा भी चलाना था। वे क्रिकेट खेलते रहे लेकिन घर की जिम्मेदारियों पर भी उनका ध्यान हमेशा रहा। मंजूर का परिवार काफी बड़ा है। वे अपने 12 भाइयों-बहनों में सबसे बड़े हैं। घर की कमजोर आर्थिक स्थिति की वजह से मंजूर को अपनी पढ़ाई छोड़नी पड़ी थी। क्रिकेट न छोड़ना पड़े इसलिए उन्होंने रात में गार्ड का काम करना शुरू किया। वे रात में गार्ड की नौकरी करते और दिन में क्रिकेट खेलते थे। क्रिकेट की प्रैक्टिस करने के लिए उन्हें हर रोज दस किलोमीटर का सफर कर शेर-ए-कश्मीर स्टेडियम जाना पड़ता था।

Image result for manzoor dar
Credit: CricTracker.com

अपनी मेहनत और लगन के दम पर मंजूर को बीते साल 2017 में जम्मू-कश्मीर क्रिकेट टीम में विजय हजारे ट्रॉफी के लिए चुन लिया गया। अपनी धुआंधार बैटिंग के लिए प्रसिद्ध मंजूर ने घरेलू क्रिकेट में काफी नाम कमाया। इसके लिए उन्हें पांडव नाम दे दिया गया। 9 टी-ट्वेंटी मैचों में मंजूर का औसत 30.83 रहा है। उनका स्ट्राइक रेट 146 रहा है जो काफी अच्छा माना जा सकता है।

Image result for manzoor dar
Credit: The Hindu

डार भारतीय टीम के पूर्व कैप्टन एम.एस. धोनी की तरह हैलीकप्टर शॉट मारने की ख़्वाहिश रखते हैं, जिसके लिए वे कड़ी मेहनत भी कर रहे हैं। इतना ही नहीं, वे किंग्स इलेवन पंजाब के लिए खेलने के साथ-साथ, अपनी स्कूल की पढ़ाई भी पूरी कर रहे हैं। यह सफ़र थोड़ा लंबा है लेकिन हमें आशा है कि वे आगे भी यूं ही अपने सपनों की उड़ान भरते रहेंगे।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds