सोमवार को देश की राजधानी दिल्ली के इंडिया गेट से छत्तिसगढ़ के बस्तर समुदाय के 42 साल के पुलिस कॉन्स्टेबल बंसी लाल नीतम (Banshi Lal Netam) साइकिल यात्रा पर निकलें।

नीतम इंडिया गेट से 6,000कि.मी. की साइकिल यात्रा पर निकले हैं, जो गोल्डेन क्वाड्रिलेट्रल (Golden Quadrilateral) (गोल्डेन क्वाड्रिलेट्रल हाई-वे का नेटवर्क है जो चेन्नई, कोलकाता, दिल्ली और मुंबई जैसे शहरों को  जोड़ता है) होते हुए अपनी यात्रा करेंगे।

 

Bastar constable sets off on 6,000 km peace ride
Credit: ANI

20 दिनों में वे राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और कर्नाटक जैसे राज्यों की यात्रा करेंगे और फिर दिल्ली लौट आएंगे।

वे शांति का संदेश देना चाहते हैं, खासकर नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में और अपनी इस साइकिल यात्रा से विश्व रिकॉर्ड भी बनाना चाहते हैं।

वे बस्तर ज़िले के बच्चों के लिए, खासकर बीहड़ क्षेत्र के बच्चों के लिए एक रोमांचक खेल और गतिविधियों से परिपूर्ण स्पोर्ट्स हब भी खोलना चाहते हैं।

नीतम ने न्यूज़ एजेंसी एनआई से कहा, “मेरा मुख्य मकसद गिनीज़ वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness World Record), गोल्डेन बुक वर्ल्ड रिकॉर्ड (Golden book world record) में शामिल होना है। जिसके बाद मैं बस्तर ज़िले में रोमांचक खेलों का एक गढ़ खोलना चाहता हूं और बस्तर के युवाओं को इस अवसर का पूरी तरह से लाभ उठाने में मदद करना चाहता हूं। जैसे कि साइक्लिंग (cycling), पर्वतारोहण (mountaineering), पैरा माउंटेनीरिंग (para mountaineering) और अश्वारोहण (horse riding)। बस्तर के बच्चों की मदद करना मेरा मुख्य मकसद है।”

शांति फैलाने  के अपने नेक मकसद के साथ, नीतम चाहते हैं कि बस्तर को “संघर्ष क्षेत्र” की बजाए किसी अन्य विशेषण से जाना जाए।

उन्होंने आगे कहा, “जब मैं यात्रा पर जाता हूँ  और विभिन्न लोगों से मिलता हूँ, मेरा बस एक ही मकसद होता है। आपने बस्तर के बारे में सुना होगा। अतः बस्तर में शांति फैलाना मेरा मकसद है।”

रिपोर्ट के अनुसार, इस यात्रा के लिए नीतम ने डेढ़ सालों तक तैयारी की। प्रत्येक दिन करीब 350 किमी साइकिल चलाकर उन्होंने अभ्यास किया है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds