मस्तिष्क में बड़ा कैंसरयुक्त ट्यूमर होने की वजह से इस बच्चे की आंखों की रोशनी चली गई, और फिर कीमोथेरिपी (chemotherapy) के माध्यम से उसका इलाज किया गया। उस छोटे बच्चे को अब फिर से चलना, बात करना और भोजन करना सीखना है।

मात्र 18 महीनें की उम्र में ऑस्ट्रेलिया (Australia) के मेलबर्न (Melbourne) के रहने वाले रायडर फॉक्स (Ryder Fox) के मस्तिष्क में पिछले जून को कैंसर हो गया, जिसके बाद वह एक सर्जरी के माध्यम से गुजरे, जिससे उनके ट्यूमर का एक तिहाई हिस्सा निकालने में सफलता हांसिल हुई। रायडर (Ryder) की मां समंथा फरुगिया (Samantha Farrugia) ने  कहा कि, “अपने नन्हें बच्चे का सिटी स्कैन और ऑपरेशन के दौरान 8 घंटों तक उसके जद्दोजहद को देखना बहुत ही ख़ौफनाक था।”

उन्होंने डेली मेल ऑस्ट्रेलिया को बताया कि,”हमें लगा कि वह अब वह ठीक नहीं होगा। मैंने चिकित्सकों से पूछा कि मुझे उसके लिए ताबूत खरीदने के लिए खुद को कब तैयार कर लेना चाहिए।”

At 18 month of age, doctors discovered a tumor inside Ryder’s brain. ©Facebook | Samantha Lee

तब से, कैंसरयुक्त ट्यूमर को खत्म करने के लिए इस बच्चे को हर महीने दुष्कर कीमोथेरिपी के माध्यम से गुज़रना होता है, हर तीसरे सप्ताह में उसका उपचार सत्र चलता है। हालांकि चिकित्सकों को नहीं पता कि यह कीमोथेरिपी ट्यूमर को खत्म कर पाएगा, इस उपचार ने बच्चे की स्वास्थ्य को भी प्रभावित किया है। इसने बच्चे की आंखो की रोशनी छीन ली, उसकी प्रजनन शक्ति को भी प्रभावित किया, और भी कई बुरे प्रभाव हुए।

अपने बेटे की आंखों की रोशनी जाने की ख़बर सुनने के बाद उसकी मां के दिल को बहुत ठेस पहुंची, इतना कि वह मर जाना चाहती थी। हालांकि, अपने बच्चे और नवजात बेटी ज़ारिया (Zaria) की देखरेख के लिए उन्हें जीवित रहना था।

“मैं जीना नहीं चाहती थी। मैं सोचती रही थी कि वह भूल जाएगा कि मैं कैसी दिखती हूं, वही कभी नहीं जान पाएगा कि उसकी बहन कैसी दिखती है, वह गाड़ी भी नहीं चला पाएगा। इन सभी चीज़ों ने मुझे पूरी तरह से तोड़ दिया।”

©Facebook | Ryder’s Journey

सर्जरी के बाद हुए एक सिटी स्कैन से पता चला कि ट्यूमर छोटा हो गया है

Ryder underwent months of grueling chemo-therapy. ©Facebook | Ryder’s Journey

पांच महीनों तक उसकी मां अस्पताल में हर वक्त उसके साथ रही। इस बीच उसे चलना, बात करना और खाना हर चीज़ दोबारा सीखना था। उसके पिता, स्टीफन फॉक्स (Stephen Fox), और बहन भी दो महीनों तक बच्चे और उसकी मां के साथ अस्पताल में रहे।

दुर्भाग्यवश, घर से दूर होने के कारण उनका घर तोड़ दिया गया और उसमें लूटपाट भी की गई। उनकी कार भी चोरी हो गई और बाद में जली हुई अवस्था में मिली।

Stephen and Samantha with their two kids. ©Facebook | Samantha Lee
©Facebook | Ryder’s Journey
©Facebook | Ryder’s Journey
©Facebook | Ryder’s Journey
Ryder enjoys cuddling with his sister. ©Facebook | Ryder’s Journey

सौभाग्य से, जनवरी में हुए एक ब्रेन स्कैन के जरिए पता चला कि उसका ट्यूमर छोटा हो गया है, अभी तक कीमथेरिपी उपचार नाममात्र ही सफल था क्योंकि कैंसर के दोबार बढ़ने की संभावना थी।

उसकी मां ने कहा कि,”मेरा बेटा कभी भी सामान्य जीवन नहीं जी सकता, और जब वह बड़ा होगा तो उसके बच्चे भी नहीं होंगे। जब वह घर पर था तब वह आकर्षक था, उसकी मुस्कान अद्भभुत थी जो मुश्किल से उसके चेहरे से हटती थी। लेकिन कीमोथेरिपी ने उसके शरीर को पूरी तरह से बिगाड़ दिया है।”

हालांकि बच्चे की एक आंख की रोशनी वापस आ गई, बहरहाल चिकित्सक अभी भी आश्वश्त नहीं हैं कि उसकी बढ़ी हुई रोशनी धूमिल होगी और उसके बाकी के जीवन को ट्यूमर आखिर कबतक प्रभावित करेगा।

Samantha’s fiancé Stephen Fox gets his head and bear shaved to support the fight against cancer. ©Facebook | Stephen Fox
Stephen after his shave in support of the Leukaemia Foundation. ©Facebook | Stephen Fox
Stephen catches so shuteye beside his boy Ryder on a hospital bed. ©Facebook | Ryder’s Journey

सामंथा (Samantha) के पति स्टीफेंस फॉक्स (Stephen Fox) ने अपने बालों और दाढ़ी को शेव कर के कैंसर से लड़ने में उसका समर्थन किया। इस कठिन परिस्थितियों में वह सामंथा (Samantha) के सबसे बड़े समर्थक भी हैं।

फारुगिया (Farrugia) ने कहा कि, “वह अभी भी मेरी शक्ति हैं। जब कभी भी मेरी उम्मीद डगमगाने लगती है वह मुझे सहारा देते हैं।”

गोफंडमी (GoFundMe) में US$9,000 (₹5,89,095) जमा करके, परिवार, दोस्त यहां तक की अजनबियों ने भी परिवार की तरफ मदद के हाथ बढ़ाए। वह कहती हैं कि, “मैं इस यात्रा के समाप्त होने का इंतज़ार नहीं कर सकती थी।” “दुर्भाग्य से यही हमारी ज़िंदगी है। मैं जानती हूं की रायडर एक बहुत ही मज़बूत इंसान हैं।”

आश्चर्यजनक रुप से, यह नन्हां लड़का सभी कठिनाइयों को झेलने के बावजूद भी एक खुश बच्चा है, लेकिन वह बहुत अधिक खुश होता है जब वह घर पर रहता है, और अपनी बहन के साथ खिलखिलाता है और उसे गले लगाता है।

Ryder is happiest when he is at home with his family. ©Facebook | Samantha Lee

Share

वीडियो