हर वर्ष विश्व के अनेक देशों में क्रिसमस पूरे धूमधाम से मनाया जाता है। लेकिन एक बात जो हर त्यौहार में आम होती है वो है प्लास्टिक का बेतहाशा उपयोग। क्रिसमस ट्री भी अधितकर इसी प्लास्टिक का प्रयोग करके ही बनाया जाता है। लेकिन केरल के कक्षा नौ में पढ़ने वाले एक बच्चे ने मिट्टी, बांस और बीज से क्रिसमस ट्री बनाया और लोगों को इस ओर प्रेरित किया।

बेटर इंडिया के अनुसार, क्रिसमस पर केरल में वायनाड जिले के अम्बलावाया गाँव में रहने वाले एलन ने एक अलग और अनोखे तरह का क्रिसमस ट्री बनाया। उन्होंने इस मौके पर प्लास्टिक का उपयोग न करते हुए हुए इको फ्रेंडली तरीके से इस क्रिसमस ट्री का निर्माण किया। इसको बनाने के लिए सबसे पहले एलन ने एक बांस लिया और उसे ऊपर से नीचे तक मिट्टी से ढंक दिया और फिर उस पर कंगनी के बीज बो दिए।

यह फसल खास तौर पर पूर्वी एशिया में उगाई जाने वाली फसल है। इसे चीनी बाजरे के नाम से भी जाना जाता है। एलन हर रोज इन बीजों में पानी देते हैं जिससे कुछ ही दिनों के बाद यह बीज अंकुरित हो जाए। और जब ये बीज पूरी तरह अंकुरित हो जाएंगे तो निश्चय ही यह असली क्रिसमस ट्री जैसा  ही दिखेगा।

एलन की यह पहल सच में काबिल-ए-तारीफ है। बेहतर है कि हम भी आगे आने वाले वर्षों में कुछ इसी प्रकार के क्रिसमस ट्री का निर्माण करें जो पर्यावरण और हमारे पॉकेट दोनों के लिए सेहतमंद हो।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds