हाल ही में सैंपल रजिस्ट्रेशन सिस्टम (Sample Registration System) की तरफ से हुए एक सर्वे में खुलासा हुआ है कि उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रसव घरों में होते हैं। रिपोर्ट के मुताबिक, देश में उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा प्रसव घरों में होते हैं। हालांकि, उत्तर प्रदेश में 2014-16 में मातृ मृत्युदर में 30 फीसदी की कमी आई है। देश में मातृ मृत्युदर का राष्ट्रीय औसत 22 फीसदी है।

डब्ल्यूएचओ (WHO) के अनुसार, एमएमआर में 1990 के प्रति 100,000 जीवित प्रसव पर 556 मामले के मुकाबले 2016 में यह प्रति 100,000 जीवित प्रसव पर यह 130 मामले रहे। ऐसे में एमएमआर में 77 फीसदी की गिरावट आई है।

Baby, Nappy, Diaper, Kid, Child, Cute, Sweet, Happy
Credit: Pixabay

प्रसव के दौरान होने वाली मृत्युदर में जबरदस्त कमी पर यूनिसेफ की भारत में राष्ट्रीय प्रतिनिधि यास्मीन अली हक ने इसकी सराहना करते हुए कहा कि भारत ने इसमें शानदार सफलता पाई है। उन्होंने कहा कि अब 2013 की तुलना में हर प्रसव संबंधित जटिलताओं के कारण लगभग 1000 कम मांओं की मृत्यु होती है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds