विदेश मंत्री सुषमा स्वराज का दो दिवसीय चीन दौरा शनिवार से शुरू हो रहा है। वह इस दौरान अपने चीनी समकक्ष वांग यी (Hwang Yee) से द्विपक्षीय वार्ता करेंगी।

न्यूज़ एजेंसी आईएएनएस के अनुसार, सुषमा स्वराज शंघाई सहयोग शिखर सम्मेलन (एससीओ) के विदेश मंत्रियों की बैठक से इतर वांग यी से मुलाकात करेंगी। दोनों के बीच विवादित मुद्दों पर भी चर्चा हो सकती है।

साल 2017 में डोकलाम को लेकर चीन और भारत के बीच 73 दिनों तक गतिरोध रहा था।

परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) में भारत के प्रवेश को लेकर चीन के विरोध और संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तानी आतंकवादी मसूद अजहर को प्रतिबंधित करने पर चीन द्वारा अड़ंगा लगाने से भारत गुस्से में था।

साल 2017 में दोनों देशों की सेनाओं के बीच गतिरोध के बाद दोनों पक्ष संबंधों में बहाली का प्रयास कर रहे हैं।

सुषमा इस दौरान चीन के शीर्ष नेताओं से भी मुलाकात कर सकती है। सुषमा स्वराज आखिरी बार 2015 में चीन गई थीं।

भारत की रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण भी अगले सप्ताह चीन का दौरा करेंगी और अपने चीनी समकक्ष के साथ वार्ता करेंगी।

जून में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शंघाई शिखर सम्मेलन से इतर चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग से मुलाकात करेंगे।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds