भारत में शिक्षा व सीखने के प्रयासों को आने बढ़ाने में सहयोग के तहत गूगल की परोपकारी शाखा गूगल डॉट ओआरजी ने गुरुवार को दो गैर लाभकारी संगठनों-सेंट्रल स्क्वायर फाउंडेशन व द टीचर एप को 30 लाख डॉलर का अतिरिक्त अनुदान देने की घोषणा की।

ऑनलाइन वीडियो सीखने के लोकप्रिय माध्यम के तौर पर उभरने के साथ गूगल डॉट ओआरजी यूट्यूब लर्निग टीम की मदद से सेंट्रल स्क्वायर फाउंडेशन को 20 लाख डॉलर का अनुदान व तकनीकी की सहायता प्रदान करेगी।

सेंट्रल स्क्वायर फाउंडेशन एक पॉलिसी थिंक टैंक है जो स्कूली शिक्षा की गुणवत्ता सुधारने के लिए काम करता है।

यह अनुदान 20 सामग्री निर्माताओं को उनके 200 घंटे की गुणवत्तायुक्त विज्ञान, प्रौद्योगिकी, इंजीनियरिंग व गणित की सामग्री हिंदी में और स्थानीय भाषा में बनाने के लिए मिलेगा।

गूगल डॉट ओआरजी इसके साथ ही द टीचर एप को 10 लाख डॉलर का अनुदेना देगी, जिसका मकसद शिक्षकों को सही प्रशिक्षण व गणित, विज्ञान, भाषा व शिक्षा विज्ञान के संसाधनों से सशक्त करना है। इस निधि का इस्तेमाल दो सालों में 500,000 शिक्षकों तक मंच की पहुंच बनाने के लिए किया जाएगा।

गूगल डॉट ओआरजी के शिक्षा प्रमुख निक केन ने कहा, हम मानते हैं कि प्रौद्योगिकी भारत में सीखने के अंतर को हल करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकती है और भारत में सभी शिक्षकों व छात्रों को इसका लाभ सुनिश्चित करने के लिए हम अपने निवेश को विस्तार दे रहे हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 10 seconds