ब्रिटेन के पूर्व प्रधानमंत्री डेविड कैमरन (David Cameron) ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सराहना करते हुए कहा कि भारत भाग्यशाली है कि उसके पास स्पष्ट दृष्टि वाला नेतृत्व है। उन्होंने कहा कि देश को हालांकि कौशल विकास और आधारभूत ढांचे पर अधिक ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

यहां इंडियन चैंबर ऑफ कॉमर्स (Indian chamber of Commerce) की वार्षिक आम बैठक में एक सवाल के जवाब में कैमरन ने कहा, भारत भाग्यशाली है कि उसके पास स्पष्ट दृष्टि वाला नेतृत्व है। जब मैं प्रधानमंत्री मोदी से मिला तो मैंने देखा कि उनके पास दीर्घकालिक समस्याओं को लेकर गहरी सोच है।

इससे पहले अपने भाषण में कैमरन ने मोदी के महत्वकांक्षी कार्यक्रम “स्किल इंडिया” की सराहना की लेकिन चिन्हित किया कि इस तरह के लक्ष्य केवल सरकार की पहल द्वारा हासिल नहीं किए जा सकते।

भारत को अवसरों की जमीन करार देते हुए कैमरन ने कहा कि भारत और ब्रिटेन जैसे देशों की सफलता बाजारों के संचालन और उद्यमों को विकसित करने पर निर्भर करती है। उन्होंने भारत की अर्थव्यवस्था को अपने आकार की सबसे तेजी से उभरती हुई अर्थव्यवस्था भी बताया।

उन्होंने कहा, भारत सबसे बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में से एक है और इसे अपने आकार की सबसे तेजी से बढ़ती हुई अर्थव्यवस्था कहा जाता है। देश के भावी विकास के लिए कौशल विकास और मूलभूत व्यवस्थाओं पर अधिक ध्यान केंद्रित करना चाहिए।

कैमरन ने देश के विकास के रास्ते में व्यापार में संरक्षणवाद को बड़ी बाधा करार दिया और स्थाई आर्थिक विकास के लिए राष्ट्रों के बीच मुक्त व्यापार की महत्ता पर जोर दिया।

उन्होंने चिन्हित किया, जी-20 देशों में भारत में ब्रिटेन से ज्यादा कोई भी निवेश नहीं करता और ब्रिटेन में भारत के मुकाबले कोई भी बड़ा निवेशक नहीं है। हमें इसपर गर्व है क्योंकि हम एक दूसरे की सफलता से लाभ उठाते हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds