13 दिसम्बर 2017

जर्मनी की लक्जरी कार निर्माता ऑडी भारत में इस साल अपने परिचालन के 10 साल पूरा होने का उत्सव मना रही है।

कंपनी का कहना है कि उसका लक्ष्य छोटे और मझोले शहरों में अपनी मौजूदगी बढ़ाने का है। कंपनी ने मंगलवार को एक बयान में कहा कि ग्राहकों का बढ़ता हुआ एक नया वर्ग है जो अब प्रीमियम सेडान से कॉम्पैक्ट व एक्जीक्यूटिव लक्जरी सेडान और एसयूवी की तरफ अपग्रेड कर रहा है। ये 28-32 साल की आयु वर्ग के युवा हैं जिनके पास लग्जरी कार पर खर्च करने के लिए पैसे हैं और उनकी आय भी अच्छी है। ये रुझान सिर्फ पहले दर्जे के शहरों में ही नहीं, बल्कि दूसरे और तीसरे दर्जे के शहरों में भी दिख रहा है। यही कारण है कि कंपनी छोटे और मझोले शहरों में अपनी मौजूदगी बढ़ाने पर ध्यान केंद्रित कर रही है।

भारत में ऑडी की रणनीति के बारे में बात करते हुए ऑडी इंडिया के प्रमुख राहिल अंसारी ने कहा , भारत में ऑडी की रणनीति तीन स्तंभों पर आधारित है, प्रोडक्ट फॉर्म इसका का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। ए5ब्रेटपेक-ऑडी ए5 स्पोर्टबैक, ऑडी ए5 कैब्रीओलेट और नई ऑडी एस5 स्पोर्टबैक को हाल ही में लांच करने के साथ हमें ये घोषणा करते हुए गर्व हो रहा है कि हमने 2017 में 10 उत्पादों को लॉन्च करने का लक्ष्य प्राप्त कर लिया है। अगला स्तंभ, ब्रांड को आसानी से ग्राहकों के लिए उपलब्ध एवं सुलभ बनाना है। देश में हमारे पास कुल मिलाकर 90 से ज्यादा कस्टमर टच प्वाइंट्स हैं और हम इसके विस्तार पर काम कर रहे हैं। हमारा पूरा ध्यान हमारे डीलर भागीदारों के लिए व्यावसायिक समझ को बनाने पर है।

अंसारी ने कहा कि इस रणनीति में तीसरा स्तंभ सबसे महत्वपूर्ण स्तंभ है, जो ब्रांड को सुलभ बनाता है। यह हमारा ग्राहक कनेक्ट अभियान है। हम ग्राहकों और ऑडी के प्रति उत्साही प्रशंसकों को ब्रांड के करीब ले जाना चाहते हैं। ग्राहकों को नियमित टेस्ट ड्राइव के अलावा भी उनसे संपर्क स्थापित करने के कई प्रयास किए जा रहे हैं। इसलिए हमारे पास ऑडी स्पोर्ट्स कैरियर ऑडी क्यू ड्राइव और ऑडी वीकएंडर जैसे प्रोग्राम हैं।

–आईएएनएस

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds