वॉलमार्ट इंक की पूर्ण स्वामित्व वाली वॉलमार्ट इंडिया ने महिला उद्यमिता विकास कार्यक्रम (डब्ल्यूईडीपी 2.0) के दूसरे संस्करण के पूरा होने पर खुद का व्यवसाय चलानेवाली 61 महिलाओं को सोमवार को स्नातक की उपाधि प्रदान की।

कंपनी ने एक बयान में कहा कि वॉलमार्ट द्वारा समर्थित ‘डब्ल्यूईडीपी 2.0’ की घोषणा 2017 के सितंबर में डब्ल्यूई कनेक्ट इंटरनेशनल, थिंकथ्रू कंसल्टिंग और एमिटी विश्वविद्यालय के साथ कार्यान्वयन और प्रशिक्षण भागीदारों के रूप में की गई थी।

कंपनी ने बताया कि मजबूत और टिकाऊ व्यवसायों को बनाने में सक्षम होने के लिए प्रतिभागियों के कौशल और क्षमताओं को बढ़ाने के उद्देश्य से डब्ल्यूईडीपी में क्लासरूम ट्रेनिंग, फील्ड विजिट्स और विषय विशेषज्ञों के संयोजन के माध्यम से क्षमता निर्माण प्रशिक्षण और परामर्श दिया गया था।

वॉलमार्ट इंडिया के अध्यक्ष और मुख्य कार्यकारी अधिकारी कृष्ण अय्यर ने बताया, डब्ल्यूईडीपी पिछले दो वर्षो में तेजी से आगे बढ़ा है और ये महिला उद्यमियों के लिए एक समावेशी वातावरण बनाने के दृष्टिकोण के साथ हमारा प्रमुख कार्यक्रम बन गया है। हम बहुत जल्द ही डब्ल्यूईडीपी का तीसरा संस्करण लांच करेंगे। महिला उद्यमी राष्ट्र निर्माण और समावेशी विकास सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।

वॉलमार्ट की महिला आर्थिक सशक्तीकरण की वरिष्ठ निदेशक जेनी ग्रिसर ने कहा, यह हमारे लिए मील का पत्थर है, क्योंकि हम वैश्विक आपूर्ति श्रृंखला में विविधता बढ़ाने पर अपना ध्यान केंद्रित रखना चाहते हैं। भारत में इन महिला उद्यमियों के लिए क्षमता और कामयाबी बनाने में मिली सफलता कई हितधारकों के प्रयासों का परिणाम है।

साल 2011 के सितंबर में वॉलमार्ट ने विश्व महिला आर्थिक सशक्तिकरण (डब्लूईई) पहल की शुरुआत की। पांच साल की इस पहल में कंपनी ने अपने बड़े आकार और पैमाने का उपयोग कर, विश्वभर की वंचित महिलाओं के जीवन स्तर को सुधारने का काम शुरू किया है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds