आज स्टार लव स्टोरी में हम आपको बताने जा रहे हैं भारतीय टेनिस स्टार सानिया मिर्जा और पाकिस्तान के स्टार क्रिकेटर शोएब मल्लिक की प्रेम कहानी। यह सिर्फ दो लोगों की प्रेम कहानी नहीं बल्कि वर्षों से चल रही दो देशों के बीच सियासती दुश्मनी को मुँह चिढ़ाती कहानी है जो बयाँ करती है कि सियासत भले ही विश्व स्तर पर इस बात को न माने की दोनों देश एक थे लेकिन उन देशों में रहने वाले लोग समय-समय पर इस बात का उदाहरण पेश करते हैं कि भले ही आजादी के बाद देश दो हो गए हों लेकिन लोगों के दिलों में आज भी एक-दूसरे के लिए मोहब्बत है।

 

वर्ष 2010 की सबसे मशहूर शादियों में से एक रही थी सानिया और शोएब की शादी जिसमें सिर्फ दो परिवार ही नहीं मिले बल्कि दो मुल्कों के बीच एक रिश्ता क़ायम हुआ। अप्रैल 12, 2010 को दोनों शादी के पवित्र बंधन में बंधे।

दैनिक भास्कर की एक खबर के अनुसार, सानिया ने अपनी बायोग्राफी Ace against odds में अपनी प्रेम कहानी के बारे में बताया है। उन्होंने लिखा कि उनकी पहली मुलाकात शोएब से ऑस्ट्रेलिया (Australia) में हुई जब वे वहाँ एक टूर्नामेंट खेलने गई थीं। एक शाम जब वे अपने पिता और कोच के साथ एक भारतीय रेस्टोरेंट में डिनर के लिए पहुँची तो शोएब वहाँ उपस्थित थे।

शोएब उनके टेबल पर आए और फिर उन सबसे बातचीत करने लगे। बातचीत के दौरान उन्होंने सानिया का मैच देखने की इच्छा जताई और फिर तभी उनके पिता ने उन्हें अपने साथ डिनर के लिए इनवाइट किया। और फिर यहीं से बात धीरे-धीरे आगे बढ़ने लगी।

 

दैनिक भास्कर के अनुसार, शादी के बाद सानिया द्वारा शोएब से यह पूछने पर कि अगर उस दिन वे उस रेस्टोरेंट में नहीं आते तो क्या वे दोनों मिल पाते? तो शोएब ने बताया कि यह एक योजना थी। रेस्टोरेंट में उनके टीम के प्लेयर पहले से ही थे और उन्होंने उन्हें फोन पर बता दिया कि सानिया रेस्टोरेंट में हैं, जिसके बाद वे वहाँ पहुँचे।

हालांंकि दोनों की प्रेम कहानी में मुश्किलें भी कम नहीं आईं। शादी से एक दिन पहले शोएब सानिया के घर पहुँचे तो कहा गया कि शादी से पहले इस प्रकार घर में रहना ठीक नहीं है। यह तय हुआ कि वे होटल में रहेंगे, लेकिन मीडिया को इस बात की भनक लग चुकी थी और उनका अच्छा खासा जमावड़ा सानिया के घर के सामने लग चुका था। अब मुद्दा यह था कि शोएब घर से बाहर निकलें तो कैसे।

फिर एक योजना बनी। सानिया के चाचा घर से बाहर निकलकर जोर-जोर से चिल्लाने लगे तो मीडिया को लगा कि कोई झगड़ा शुरू हो गया है और उनका पूरा ध्यान चाचा की ओर चला गया और शोएब पीछे के दरवाजे से एक छोटी सी कार में लेटकर होटल पहुँचे। सानिया ने बताया कि वो कार उनके घर पर सब्जी लाने के लिए की जाती थी।

हालांकि, शादी से पहले भी कई मुश्किलें आईं और कई अफवाहें उड़ी लेकिन अंततः दोनों शादी के बंधन में बंधे। इस प्रकार दो मुल्कों के बीच खींची गई सरहद सिर्फ एक लकीर बनकर रह गई।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds