फिल्मों में हम अक्सर देखते हैं कि हीरो दहकती हुई आग से अपनी गाड़ी लेकर निकल जाता है या फिर दिल दहला देनेवाला कोई ऐसे सीन करते हैं। लेकिन क्या आपको पता है कि वास्तव में ऐसे सीन वे खुद नहीं करते बल्कि कोई ऐसा व्यक्ति करता है जो इस प्रकार की सीन के लिए विशेष रूप से ट्रेन हुआ होता है। हां! लेकिन यह बात अलग है कि एक छोटी सी गलती उनकी जान भी ले सकती है। लेकिन क्या इस तरह के सीन करने के एवज में उन्हें वो सारी सुविधाएँ दी जाती है जिसके वे हक़दार है? आइए, जानते हैं।

Credit: BBC

बीबीसी से बात करते हुए स्टन्टमैन विक्रम कहते हैं कि, “स्टंट आर्टिस्टों की पहले के मुकाबले अब हालात में सुधार हुआ है लेकिन ऐसा कोई कदम नहीं उठाया गया है जिससे हमारी आर्थिक स्थिती में सुधार आए।”

बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने इन स्टन्टमैन को खुला समर्थन करते हुए एक पत्र में कहा कि, “मुझे यह पता है कि जिन फिल्मों पर करोड़ों खर्च किए जाते हैं उसके दौरान आपको जो भी कठिनाई झेलनी पड़ती है उसकी भरपाई सिर्फ एक अवॉर्ड से नहीं कि जा सकती, लेकिन इसके लिए एक छोटी शुरूआत ही सही, हो तो सकती है।”

Credit: BBC

स्टन्टमैन गीता टंडन कहती हैं कि, “शूटिंग के दौरान अगर स्टंट कलाकार घायल हो जाते हैं तो उन्हेें सिर्फ शिफ्ट के पैसे मिलते हैं। बाकी के सारे खर्च उन्हें खुद से उठाने पड़ते हैं। अगर इंडस्ट्री हमें बीमा सुविधा उपलब्ध करा दें तो इससे हमें बहुत मदद मिलेगी।”

वहीं निर्देशक रोहित शेट्टी का कहना है कि, “किसी के लिए यह कहना बेहद आसान है कि हमने गाड़ी उड़ा दी है लेकिन सच्चाई यह है कि यह सिर्फ स्टंट आर्टिस्ट की वजह से मुमकिन हो पाता है। फिल्म शूटिंग के दौरान जब तक हमारे हर स्टंट मैन सही सलामत वापस नहीं आ जाते हमें चैन नहीं मिलती है।”

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds