दिव्या भारती अपने ज़माने की प्रमुख भारतीय फिल्म अभिनेत्री थी। उन्होंने1990 के शुरुआती समय में कई व्यावसायिक रूप से हिंदी और तेलुगु भाषाओं की फिल्मों में अभिनय किया था। वे थोड़े समय में ही, स्वयं को 90 के दशक की शीर्ष अभिनेत्रियों के बीच स्थापित करने में कामयाब रही थीं। बॉलीवुड में दिव्या भारती को एक ऎसी अभिनेत्री के तौर पर याद किया जाता है जिन्होंने अपनी रूमानी अदाओं से दर्शको के बीच खास पहचान बनाई थी।

आज उनकी पुण्यतिथि के अवसर पर हम आपको उनके जीवन से जुड़े कुछ रोचक तथ्य बताने जा रहे हैं:

1. दिव्या भारती का जन्म फरवरी 25, 1974 के सपनों के शहर मुंबई में हुआ था। दिव्या के पिता बीमा कंपनी में काम करते थे और उनकी माँ एक गृहणी थीं। दिव्या अपने माता-पिता की सबसे बड़ी संतान थीं। उनका एक छोटा भाई कुणाल है और एक छोटी बहन भी है जिनका नाम पूनम है।

A post shared by Divya Bharti❤ (@divyabharti_) on

2. दिव्या भारती अपने चुलबुले व्यक्तित्व के लिए जानी जाती थीं और सब लोग प्यार से उन्हें गुड़िया कहते थे।

A post shared by Abdulqader Albastaki (@qadero) on

3. दिव्या का मन पढ़ाई लिखाई में नहीं लगता था। वे तो बस दिनभर शरारतें करना चाहती थीं और किसी भी तरह पढ़ाई से दूर भागने के बहाने ढूंढती रहती थीं। इसीलिए जब 15 साल की उम्र में फिल्म का ऑफर आया तो दिव्या को पढ़ाई छोड़ने का अच्छा बहाना मिल गया था।

A post shared by Divya Bharti❤ (@divyabharti_) on

4. करियर शुरु होने से पहले ही दिव्या को कई झटके लगे। दिव्या को “राधा का संगम”, “आतंक ही आतंक”, “प्रेम” और “सौदागर” जैसी फिल्मों के लिए साइन तो कर लिया गया था लेकिन अलग-अलग वजहों से उन्हें इन फिल्मों से निकाल दिया गया था। 15 साल की दिव्या के लिए यह सब किसी बड़े झटके से कम नहीं था।

5. फिल्मों से निकाले जाने के बाद भी दिव्या ने हिम्मत नहीं हारी। वे मेहनत करती रहीं और आखिरकार 1990 में उनकी पहली तेलुगु फिल्म “बोबिली राजा” रिलीज़ हुई। इस सुपरहिट फिल्म से दिव्या को वो कामयाबी मिल गई जिसकी तलाश वे दो साल से बड़ी शिद्दत से कर रही थीं।

A post shared by Divya Bharti❤ (@divyabharti_) on

6. साल 1992, वो साल है जब दिव्या की जिंदगी बदल गई। इस साल दिव्या की एक या दो नहीं बल्कि 10 हिंदी फिल्में रिलीज़ हुईं और अपने अभिनय से दिव्या ने बॉलीवुड मे अपने हर आलोचकों को करारा जवाब दिया। दिव्या ने बॉलीवुड में  कदम रखा और वे बस दर्शकों के दिलों पर छा गईं।

7. 1992 में तीन हफ्तों के भीतर ही दिव्या की लगातार तीन फिल्में रिलीज़ हुईं। उनकी फिल्मों की शुरुआत हुई फिल्म “विश्वात्मा से”, उसके बाद आई “दिल का क्या कसूर” और फिर गोविंदा के साथ “शोला और शबनम” जो सुपरहिट रही थी। तीन अलग फाइलों और तीन अलग किरदारों से  दिव्या ने हर किसी पर अपना जादू चला दिया था।

A post shared by Super Hit Actress Divya Bharti (@divya_bharti568) on

8. 1992 में ही रिलीज़ हुई थी दिव्या की फिल्म “दीवाना” जो शाहरुख खान की पहली फिल्म थी।

A post shared by Divya Bharti❤ (@divyabharti_) on

9. “शोला और शबनम” की शूटिंग के दौरान उनकी मुलाकात फिल्म निर्माता साजिद नाडियाडवाला से हुई और फिर उसी साल दिव्या और साजिद ने शादी भी कर ली थी।

A post shared by Divya Bharti❤ (@divyabharti_) on

10. अप्रैल 5, 1993 को दिव्या भरती इस दुनिया को अलविदा कहकर चली गईं। उनकी मृत्यु का कारण आज भी एक रहस्य बना हुआ है।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds