80 और 90 के दशक में अपनी आवाज़ से लोगों का दिल जीतने वाले बॉलीवुड के मशहूर गायक मोहम्मद अज़ीज़ ने 64 वर्ष की उम्र में दुनिया को अलविदा कह दिया। मोहम्मद अज़ीज़ ने हिंदी, ओड़िया और बंगाली फिल्मों के लिए 2000 से अधिक गाने गाये। उन्होंने मुंबई के नानावटी हॉस्पिटल में अपनी अंतिम सांस ली। 

Image may contain: 1 person, smiling, closeup
Credit : Facebook

 

मोहम्मद अज़ीज़ किसी कार्यक्रम के लिए सोमवार को कोलकत्ता में थे और मंगलवार दोपहर वे मुंबई पहुंचे थे। जानकारी के मुताबिक एयरपोर्ट से घर जाते वक्त अज़ीज़ को छाती में थोड़ी परेशानी हुई। जिसके बाद ड्राइवर ने उन्हें नानावटी हॉस्पिटल पहुंचाया। लेकिन हॉस्पिटल पहुंचने पर डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।  

मोहम्मद अज़ीज़ का जन्म 2 जुलाई 1954 को पश्चिम बंगाल के अशोक नगर में हुआ था। और वे मोहम्मद रफ़ी के बहुत बड़े प्रशंसक थे। उन्होंने बचपन से गाना शुरू कर दिया था। उन्होंने सबसे पहले बंगाली फिल्म ज्योति से अपने गायन की शुरुआत की । जिसके बाद वे मुंबई चले आये। और 1984 में फिल्म अम्बर  के लिए गाया। 

लेकिन उन्हें असली पहचान फिल्म मर्द से मिली। इस फिल्म में गाने के लिए संगीतकार अनु मालिक ने उन्हें गाने का मौका दिया। और इस फिल्म का गाना “मर्द तांगेवाला हूँ मैं” बहुत बड़ा हिट साबित हुआ। तीन दशकों के अपने जीवनकाल में मोहम्मद अज़ीज़ ने लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल, कल्याणजी-आनंदजी, आर. डी. बर्मन, बप्पी लाहिरी, अनु मालिक जैसे बड़े संगीतकारों के लिए गाने गाये। 

Image may contain: 1 person, smiling, indoor
Credit : Facebook

80 और 90 के दशक के कई बड़े सितारे अमिताभ बच्चन, मिथुन चक्रवर्ती, गोविंदा आदि की आवाज़ अज़ीज़ बने। साथ ही उन्होंने लता मंगेशकर, आशा भोंसले, अनुराधा पौडवाल और कविता कृष्णमुर्ती के साथ कई सुपरहिट गाने गाये। उनके लोकप्रिय गीतों की सूची काफी लम्बी है। जिसमें माय नेम इज़ लखन, लाला दुपट्टा मलमल का, मितवा भूल ना जाना, मेरा कर्मा तू जैसे गाने शामिल हैं।

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds