एक बार फिर से हम आपके लिए “बचपन के वो दिन” सीरिज के अगले अंक के साथ प्रस्तुत हैं। इस बार हम कुछ कलाकारों की बचपन की तस्वीरें लेकर तो आए ही हैं, लेकिन साथ ही उनके कुछ मशहूर डायलॉग लेकर भी आए हैं। और पिछली बार की तरह ही इस बार भी हम आपको उनके नाम नहीं बताएँगे, बल्कि उनके डायलॉग और फिल्मों के माध्यम से आपको नाम कमेंट करना होगा।

1. रेस, हंगामा और बॉर्डर जैसी फिल्मों में काम किया है इन्होंने!

Childhood Photos of Bollywood Celebs-Akshaye Khanna
Credit: BCCL

इनकी फिल्म रेस से एक मशहूर डायलॉग है कि शेर के शिकार में शिकारी भी मर सकता है और फिल्म ताल से आप इतने खूबसूरत लोग हैं कि आपकी तस्वीर सीधे दिल में छपती है। चलिए, अपनी याददाश्त पर जोर डालिए और बताइए कि ये कौन हैं?

2. ये हैं मशहूर पूर्व बैडमिंटन खिलाड़ी की बेहद खूबसूरत बेटी!

Childhood Photos of Bollywood Celebs-Deepika Padukone
Credit: BCCL

हाल ही में इनकी एक फिल्म रिलीज हुई जिसने काफी धूम मचाई। उस फिल्म का एक मशहूर डायलॉग है राजपूती कंगन में उतनी ही ताकत है जितनी राजपूती तलवार में। बॉलीवुड के किंग खान के साथ इनकी एक फिल्म आई थी जिसका डायलॉग था, हम लोग जहाँ पे खड़ी होती न, स्टेशन वहीं से शुरू होती।

3. इन्होंने भी फिल्म रेस में एक अहम किरदार निभाया था!

Childhood Photos of Bollywood Celebs-Bipasha Basu
Credit: BCCL

फिल्म रेस में इन्होंने अहम किरदार निभाया था और साथ ही फिल्म राज में, जो कि एक हॉरर फिल्म है, इनके किरदार की खूब तारीफ की गई थी। फिल्म रेस का इनका यह डायलॉग इंसान और गोली की रेस में जीत हमेशा गोली की होती है, काफी मशहूर है।

4. बॉलीवुड के मिस्टर परफेक्निस्ट के भानजे!

Childhood Photos of Bollywood Celebs-Imran Khan
Credit: BCCL

इन्होंने सोनम कपूर के साथ फिल्म I hate love stories में काम किया था। कल तक तो सब ठीक था, ये प्यार कैसे हो गया, कभी सोचा न था कि ऐसे होगा, ये कैसे हो गया यह डायलॉग इस फिल्म में इनके द्वारा कहा गया मशहूर डायलॉग है।

5. कुछ-कुछ होता है तो ठीक लेकिन आपको इन्हें देखकर हिचकी तो नहीं आई?

Childhood Photos of Bollywood Celebs-Rani Mukerji
Credit: BCCL

फिल्म मर्दानी और फिल्म हिचकी जैसी बेहतरीन फिल्में करने वाली इस अभिनेत्री ने अपनी कला के दम पर विश्व भर में खूब सुर्खियां बटोरी हैं। इन्होने शाहरूख खान के साथ फिल्म वीर-ज़ारा में भी काम किया है। इस फिल्म में इनका एक डायलॉग बेहद संवेदना भरा है, आपके 22 साल तो मैं वापस नहीं दिला सकती पर एक कसम खाती हूँ मैं, मेरे अब्बू के कब्र पर फूल नहीं चढ़ेंगे, जब तक वीर प्रताप सिंह को उसका नाम, उसकी पहचान और उसका मुल्क वापस नहीं मिल जाता।

अगर आपको इन कलाकारों के नाम पता चल गए हो तो कमेंट कर हमें बता सकते हैं। “बचपन के वो दिन” का अगला अंक शनिवार को प्रकाशित किया जाएगा।

Share

वीडियो