रानी मुखर्जी ने बॉलीवुड में फिल्म हिचकी से वापसी की थी जिसे शंघाई इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल (एसआईएफएफ) में पसंद किया गया था। यह फिल्म इसी महीने चीन में प्रदर्शित हुई थी। वही भारत और ओवरसीज़ में ₹1700 करोड़ से अधिक कमाने वाली बाहुबली-2 ने चीन में मात्र ₹ 80 करोड़ कमाये थे। लेकिन रानी मुख़र्जी की हिचकी ने इस फिल्म को आश्चर्यजनक रूप से पछाड़कर  ₹100 करोड़ से ज्यादा का कारोबार किया है।

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

#Hichki hits a century in China! #RaniMukerji @siddharthpmalhotra @yrf #hichki #hichkihits100crinchina #celebration #milestone #instalove #bollywoodfilms #bollywoodmovies #yrffilms #yrf #instabollywood #igershub #yrf

A post shared by Hichki (@hichkithefilm) on

हिचकी ने भारतीय सिनेमा की सबसे बड़ी फ़िल्म बाहुबली 2- द कंक्लूज़न को मात दे दी है, जिसने चीनी बॉक्स ऑफ़िस पर ₹80 करोड़ की कमाई की थी। फिल्म में रानी मुखर्जी ने टॉरेट सिंड्रोम से पीड़ित टीचर का किरदार निभाया है जो रुकरुक कर बातचीत करती हैं। दरअसल, चीन के दर्शक ऐसी फ़िल्मों को पसंद करते हैं, जिनमें पारिवारिक ताना-बाना दिखाया गया हो और कहानी में भावनात्मक दृष्टिकोण छिपा हो।

चीन के रूप में भारतीय फ़िल्मों को एक महत्वपूर्ण बाज़ार मिल गया है। घरेलू और ओवरसीज़ बाज़ार में अपना असर दिखाने के बाद चीन में भारतीय फ़िल्में रिलीज़ करने का रिवाज़ अब बढ़ रहा है। पिछले कुछ सालों में भारतीय फ़िल्मों ने चीनी बॉक्स ऑफ़िस पर सफलता के नये झंडे गाड़े हैं। 

 
 
 
 
 
View this post on Instagram
 
 
 
 
 
 
 
 
 

#Hichki to be screened at the #PragueIndianFilmFestival, 2018 TODAY. #RaniMukerji @siddharthpmalhotra

A post shared by Hichki (@hichkithefilm) on

बता दें कि फिल्म हिचकी भारत में ज्यादा नहीं चल सकी लेकिन फिल्म की कहानी और रानी मुखर्जी के अभिनय को काफी सराहा गया था। चीन में भारतीय फिल्मों की बात करें तो हिंदी मीडियम- ₹102.18 करोड़, बजरंगी भाईजान- ₹55.22 करोड़,  सीक्रेट सुपरस्टार- ₹173.82 करोड़, दंगल- ₹80.02 करोड़, और पीके- ₹36.30 करोड़ कमा चुकी हैं। 

Share

वीडियो

Ad will display in 09 seconds