स्पेस स्टेशन की नज़र से देखिये धरती का अद्भुत नज़ारा!

स्पेस स्टेशन की नज़र से देखिये धरती का अद्भुत नज़ारा!

अंतराष्ट्रीय अंतरिक्ष केंद्र से पृथ्वी के अलग-अलग परिदृश्यों की तस्वीरें अक्सर ली जाती हैं। हज़ारों मील की दूरी से ली गई ये तस्वीरें अपने आप में बहुत कुछ बयां करती हैं, और वैज्ञानिकों के शोध में भी सहायक बनती हैं। ...

जीसैट-11 को एहतियातन जांच के लिए वापस लाया जा रहा: शिवन

जीसैट-11 को एहतियातन जांच के लिए वापस लाया जा रहा: शिवन

हाल ही में भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने संचार उपग्रह जीसैट-11 का सफल प्रक्षेपण किया है। लेकिन कुछ तकनीकी कारणों और परीक्षण के लिए उपग्रह को वापस लाने की तैयार की जा रही है। न्यूज़ एजेंसी आएएनएस के अनुसार, ...

सूर्य के वातावारण में होने वाले बदलाव के कारण पृथ्वी के वायुमण्डल में होते हैं कुछ ऐसे बदलाव!

सूर्य के वातावारण में होने वाले बदलाव के कारण पृथ्वी के वायुमण्डल में होते हैं कुछ ऐसे बदलाव!

सूर्य हमारी पृथ्वी को रोशनी और गर्मी दोनों प्रदान करता है, जो हमारी पृथ्वी, सौरमंडल, मौसम और अन्य चीज़ों को ऊर्जा प्रदान करता है। लेकिन रात में भी इसका प्रभाव काफी दूर तक फैला होता है क्योंकि हमारा नजदीकि तारा ...

एक महीने तक स्पेसक्राफ्ट में रहने पर पौधों का क्या होता है?

एक महीने तक स्पेसक्राफ्ट में रहने पर पौधों का क्या होता है?

अंतरराष्ट्रीय स्पेश स्टेशन के बाहर बहुत ही खराब वातावरण होता है, लेकिन एडवांस स्पेस रिसर्च के लिए वैज्ञानिक इस बेहद ही खराब स्थिति का फायदा उठा रहे हैं। अंतरिक्ष यात्री इस पर भी शोध कर रहे हैं कि जो जीव ...

ISRO में नौकरी करने का सुनहरा मौका, विभिन्न पदों के लिए निकली हैं रिक्तियां!

ISRO में नौकरी करने का सुनहरा मौका, विभिन्न पदों के लिए निकली हैं रिक्तियां!

भारतीय अनुसंधान केंद्र इसरो(Indian Space Research Organization (ISRO)) में नौकरी करने का सुनहारा मौका है। इसरों में विभिन्न पदों के लिए 52 रिक्तियां हैं, जिसमें तकनीशियन (39), तकनीकी सहयोग (9) और लैब असिस्टेंट (1) रिक्तियां हैं। तकनीशियन और ड्रॉटमैन के ...

NASA के इस एप की मदद से देखें दशकों वर्ष पू्र्व आपका स्थान कैसा दिखता था!

NASA के इस एप की मदद से देखें दशकों वर्ष पू्र्व आपका स्थान कैसा दिखता था!

कभी सोचा है आज आप जिस स्थान पर हैं, दशकों वर्ष पूर्व यह जगह कैसी दिखती थी? हालांकि इस संबंध में बुजुर्गों के माध्यम से सुना तो ज़रुर होगा और कल्पनाओं की दुनिया में गोते लगाकर उस समय के परिदृश्य ...