मिथिला पेंटिग से सजी बिहार संपर्क क्रांति, मिथिला संस्कृति और कला को प्रसारित करने की अनोखी पहल!

मिथिला पेंटिग से सजी बिहार संपर्क क्रांति, मिथिला संस्कृति और कला को प्रसारित करने की अनोखी पहल!

पिछले कुछ ही महीने पहले इंडियन रेलवे ने बिहार की चित्रकारी कला मधुबनी पेंटिग को बढ़ावा देने के लिए वहाँ के एक स्टेशन मधुबनी जंक्शन को पूरी तरह से मधुबनी पेंटिंग के रंग में रंग दिया और अब एक और ...

विदेशी गलियों में 3D आर्ट का अद्भुत प्रदर्शन!

विदेशी गलियों में 3D आर्ट का अद्भुत प्रदर्शन!

बदलते ज़माने के साथ-साथ पेंटिंग का दौर भी बदल रहा है। पेंटिंग में रूचि रखने वाले लोग अपनी सारी रचनात्मकता उसमें डाल देते हैं। वैसे आजकल 3D पेंटिंग ज्यादातर जगहों पर देखने को मिल रही है। दीवारें हो या सड़क लोग ...

तैयब मेहता की ‘काली’ ₹26.4 करोड़ में बिकी

तैयब मेहता की ‘काली’ ₹26.4 करोड़ में बिकी

नई दिल्ली, जून 15 (आईएएनएस)| जाने-माने दिवंगत चित्रकार तैयब मेहता की पेंटिंग “काली” गुरुवार को एक ऑनलाइन नीलामी में रिकॉर्ड ₹26.4 करोड़ में बिकी। इससे कलाकार के नाम एक नया रिकॉर्ड दर्ज हो गया। यह पेंटिंग मानवीय मन की दुविधा, ...

बिहार की दुलारी देवी ने बंदिशों और मजबूरी की ‘हथकड़ी’ को तोड़ इतिहास बनाया!

बिहार की दुलारी देवी ने बंदिशों और मजबूरी की ‘हथकड़ी’ को तोड़ इतिहास बनाया!

कहते हैं कि कला किसी की मोहताज नहीं होती। वो तो  बहते हुए पानी की तरह होती है जो अपना रास्ता खुद-ब-खुद तलाश लेती हैं। आज हम आपके समक्ष एक ऐसा ही उदाहरण लेकर प्रस्तुत हुए हैं। यह कहानी है ...

वाह क्या कमाल के दादाजी हैं: यह देखिए इनका हुनर!

वाह क्या कमाल के दादाजी हैं: यह देखिए इनका हुनर!

उम्र तो महज़ कहने कि बात है, और यह असाधारण वीडियो क्लिप इस बात को साबित भी कर देगा, जिसमें एक छोटी बच्ची नाच रही है और उसी दौरान पीछे उसके दादाजी रसोईघर का मेज़ साफ़ कर रहें हैं! इस वीडियो ...

भावनाओं के लिए जब शब्द कम पड़ जाते हैं तो पेंटिंग के द्वारा उसे व्यक्त किया जाता है!

भावनाओं के लिए जब शब्द कम पड़ जाते हैं तो पेंटिंग के द्वारा उसे व्यक्त किया जाता है!

संस्कृति, संगीत, नाट्य और चित्रकारी ये सभी इंसानी सभ्यता के मूल अंग हैं। इनके बिना मानव किसी पशु के समान है। आज हम आपको इन्हीं में से एक अहम अंग चित्रकारी यानी पेंटिंग से रूबरू कराने जा रहे हैं। हम आपके ...