आइए, मिलते हैं चार ऐसे विदेशी संगीत प्रेमियों से जो भारतीय संगीत को दे रहे हैं एक नई पहचान

आइए, मिलते हैं चार ऐसे विदेशी संगीत प्रेमियों से जो भारतीय संगीत को दे रहे हैं एक नई पहचान

किसी भी देश की संस्कृति उस देश की पहचान होती है जिसे उन्हें सहेजकर रखना होता है। अगर पहचान गई तो अस्तित्व भी चला जायेगा। दूसरी ओर, आज वैश्विकरण के इस दौर में जहाँ हर किसी का किसी और संस्कृति ...

हैदराबाद में गठित की गई 47 महिला पुलिस अफसरों की टीम जो महिला सुरक्षा को सुदृढ़ करेंगी

हैदराबाद में गठित की गई 47 महिला पुलिस अफसरों की टीम जो महिला सुरक्षा को सुदृढ़ करेंगी

हाल ही में हैदराबाद की पुलिस ने महिला पुलिस ऑफिसर्स की एक पेट्रोलिंग टीम लांच की है और उसका नाम रखा है “वीमेन ऑन व्हील्स”। इनका मुख्य काम है शहरों में महिलाओं की सुरक्षा को पुख्ता करना। इस टीम का ...

मिलिए भारत की पहली महिला माइनिंग इंजीनियर से जिन्होंने पुरुषों के वर्चस्व वाले क्षेत्र में खुद को साबित किया

मिलिए भारत की पहली महिला माइनिंग इंजीनियर से जिन्होंने पुरुषों के वर्चस्व वाले क्षेत्र में खुद को साबित किया

एक ऐसा समय भी था जब देश के हर पेशे पर लगभग सिर्फ पुरुषों का प्रभुत्व था। लेकिन परिवर्तन की हवाएं तेजी से बहने लगीं और महिलाएं, पुरुषों के प्रभुत्व वाले क्षेत्र में जाकर कार्य करने लगीं। लेकिन आज भी कुछ क्षेत्र हैं जहाँ महिलाएं कार्य नहीं कर ...

भारतीय डॉक्टर ने यात्रा के दौरान यूरोपीय यात्री की जान बचाई, एयरलाइन ने किया सम्मानित

भारतीय डॉक्टर ने यात्रा के दौरान यूरोपीय यात्री की जान बचाई, एयरलाइन ने किया सम्मानित

हाल ही में फ्रांस एयरलाइनस ने एक भारतीय डॉक्टर को सम्मानित किया। इसका कारण था प्रभुलिंगास्वामी संगनालमाथ जो पेशे से डॉक्टर हैं, उन्होंने पेरिस से बैंगलौर की यात्रा के दौरान अपने एक सहयात्री की जान बचाई, अगर वक्त पर वो उनकी ...

केरल के नेदुमगंडम की गांव पंचायत जमा किये प्लास्टिक कचरे को बेचकर कमा रही है हजारों रुपये

केरल के नेदुमगंडम की गांव पंचायत जमा किये प्लास्टिक कचरे को बेचकर कमा रही है हजारों रुपये

शहर या गांव में कचरा इकट्ठा करने और निपटाने की जिम्मेदारी नगरपालिकाओं या स्थानीय शहरी निकायों की होती है। शहरी ठोस कूड़े का समुचित प्रबंध स्थानीय निकायों के महत्वपूर्ण उत्तरदायित्वों में से एक है। लेकिन केरल के इडुक्की जिले के छोटे-से गांव ...

आईआईटी कानपुर के दो प्रोफेसर ने सेना के लिए रडार की नजरों से अदृश्य होने वाला कवच बनाया

आईआईटी कानपुर के दो प्रोफेसर ने सेना के लिए रडार की नजरों से अदृश्य होने वाला कवच बनाया

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान अपने नए-नए खोज और नई तकनीक के लिए विश्व भर में मशहूर है। यही कारण है कि प्रत्येक वर्ष यहां देश-विदेश की कई सारी कंपनियां प्लेसमेंट के लिए आती हैं और करोड़ों का पैकेज देकर विद्यार्थियों को ...